Heavy Weight या Light Weight Lifting कौन सी बढ़िया है?

Heavy Weight या Light Weight Lifting कौन सी बढ़िया है?

जब आप जिम जाते है कई लोग आपको कहते होंगे की लाइट वेट इस्तेमाल करो इससे बॉडी ग्रो करेगी या कोई कहता है हैवि वेट लगायों इससे बॉडी ग्रो ज्यादा करेगी। और आप परेशान हो जाते होगे की यार क्या है ये अब किसकी सुनू और क्या करू। जब आप हैवि वेट का इस्तेमाल कर रहे होते है तो आपके हॉर्मोन्स आपके बॉडी से मसल ग्रोथ और फैट बर्निंग प्रोसैस को तेज़ कर देते है।

लाइट वेट मे आप अगर ज्यादा रेप्स लगते है या हैवि वेट मे कम रेप्स लगाते है तो आपकी मसल पर बराबर लोड पड़ता है। और आपकी मसल स्ट्रेन्थ बराबर बनती है। वेट ट्रेनिंग मे अब आपको यह सेलेक्ट करना होता है की आप Endurance ट्रेनिंग कर रहे या Explosive ट्रेनिंग कर रहे है।

Heavy Weight या Light Weight Lifting कौन सी बढ़िया है?

मसल फाइबर:-

हमारी मसल दो प्रकार की मसल फाइबर से बनी होती है एक Slow Twitch और दूसरी Fast Twitch। हर हमारी मसल दो प्रकार की होती है। लेकिन यह हमारी एक्सरसाइज़ पर डिपेंड करता है की हम किस प्रकार की मसल को हिट कर रहे है। अगर आप हैवि वेट मे 10 रेप्स लगा रहे है तो आप fast Twitch मसल फाइबर को हिट कर रहे होते है और जब आप लाइट वेट से 20 रेप्स लगा रहे होते है तो slow twitch मसल फाइबर को हिट कर रहे होते है।

साइज़ बढ़ाना:-

अगर आपका गोल है की आपको अपनी मसल का साइज़ इंक्रीज़ करना है तो आप हैवि वेट मे 10 रेप्स लगाए क्योकि यह आपके ग्रोथ हॉर्मोन्स को रिलीस करने मे हेल्प करता है जिससे की आपकी मसल का साइज़ बढ़ता है। और इसके साथ आप Jumping और Sprinting जैसी एक्सरसाइज़ कर सकते है। लेकिन लड़कियो मे यह हॉर्मोन्स कम मात्रा मे होता है जिसकी वजह से उनकी मसल इतनी ज्यादा ग्रोथ नही कर पाती है।

लेकिन अगर आपको अपनी मसल की सहनशीलता बढ़ानी है तो आप लाइट वेट मे 20 रेप्स लगाए जिससे आपके मसल की सहन क्षमता बढ़ सके। इसके लिए आप लंबी दूरी की दौड़ कर सकते है या हाइ ईंटेंसिटी कार्डियो वर्कआउट भी कर सकते है।

Metabolism को बूस्ट करना:-

जब हम हैवि वेट का इस्तेमाल करके कम समय मे अपनी वर्कआउट को कंप्लीट कर लेते है तो हम अपनी मसल बनाने की प्रोसैस को तेज़ कर देते है तो इसि कारण से हमारे शरीर का Metabolism भी तेज़ हो जाता है। इसी कारण से जब हमारा Metabolism तेज़ होता है तो हमारा फैट बर्निंग प्रोसैस तेज़ हो जाती है।

फैट बर्न करना:-

जब आप हैवि वेट का इस्तेमाल करते है तब आपकी कलोरीज़ ज्यादा खपत होती है लाइट वेट के मुक़ाबले। क्योकि उस समय हम Fast Twitch मुस्कल फाइबर को हिट कर रहे होते है। हैवि वेट से आपका फैट ज्यादा बर्न होता है। यह प्रोसैस वर्कआउट के बाद होती है। और यह प्रोसैस लगभग 6 घंटे तक होती है। फैट बर्निंग प्रोसैस हैवि वेट मे इसीलिए होती है क्योकी Fast Twitch मसल मे ज्यादा फैट स्टोर होता है और यह जल्दी हमे एनर्जि देने का काम करता है।

इसीलिए अब आप पर है की आप हैवि वेट इस्तेमाल करना चाहते है या लाइट वेट। लेकिन Quantity से अच्छा है की आप अपने एक्सरसाइज़ की Quality को इंक्रीज़ करे। अगर आप beginner है तो आप लाइट वेट का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन आपको रेप्स 12 से कम ही रखनी होगी। और अगर आप Endurance टट्रेनिंग कर रहे है तो आप लाइट वेट का इस्तेमाल कर सकते है और रेप्स 15 से उपर रख सकते है। इसके अलावा अगर आपको कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पुछ सकते है और आप हमारे फेसबूक पेज पर भी कमेंट कर सकते है।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.